July 24, 2024

कसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र में स्वास्थ्य संस्थाओं में विभिन्न श्रेणियों में 51 पद खाली

1 min read

·

· डॉ. तँवर के नेतृत्व में अतिरिक्त निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, हिमाचल प्रदेश से मिला किसान सभा एवं महिला समिति का प्रतिनिधिमण्डल

· अतिरिक्त निदेशक स्वास्थ्य ने समस्या के समाधान का दिया आश्वासन

· मशोबरा को रेडियोग्राफर और जुन्गा को शीघ्र ही मिलेगा लैब टेक्नीशियन

· प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, कुफरी और धरेच को स्तरोन्नत करने के लिए सरकार से करेंगे सिफारिश

कसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाने और दुरूस्त करने के लिए हिमाचल किसान सभा और जनवादी महिला समिति का एक प्रतिनिधिमण्डल मंगलवार को अतिरिक्त निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, हिमाचल प्रदेश राजीव कुमार से मिला। इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकरी डॉ. सुरेखा चोपड़ा भी मौजूद रहीं।

डॉ. कुलदीप सिंह तंवर के नेतृत्व में प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्यतः तीन मुद्दों पर अपना ज्ञापन सौंपा। इसमें कसुम्पटी क्षेत्र में बने स्वास्थ्य संस्थानों में रिक्त पड़े पदों को भरना, अस्पतालों में स्वीकृत बिस्तरों का इंतज़ाम और जुन्गा के लिए एम्बुलेंस की सुविधा देना और धरेच व मशोबरा के स्वास्थ्य संस्थानों की ज़मीन को विभाग के नाम करवाना और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोटी तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, ट्राई के लिए ज़मीन चिन्हित करना।

अतिरिक्त निदेशक ने प्रतिनिधिमण्डल को आश्वस्त किया कि वे शीघ्र ही इन मांगों पर यथासंभव कदम उठाएंगे। उन्होंने कहा कि वे शीघ्र ही जुन्गा में लैब टेक्नीशियन और मशोबरा में रेडियोग्राफर की नियुक्ति कर देंगे। उन्होंने कहा कि कृष्णा डायग्नोस्टिक लैब की तरफ से शीघ्र ही सिविल अस्पताल और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के स्तर पर जांच की सुविधाएं उपलब्ध हो जाएंगी और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों से भी जांच के लिए सैंपल एकत्र किये जाएंगे।

अतिरिक्त निदेशक और मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुरेखा चोपड़ा ने माना कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, कुफरी और धरेच को स्तरोन्नत किया जाना चाहिए।

बैठक में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, ट्राई में लम्बे समय से डॉक्टर न होने का मुद्दा भी उठा। डॉ. कुलदीप सिंह तँवर ने कहा कि ट्राई में डॉक्टर की नियुक्ति बहुत ज़रूरी है क्योंकि यह मशोबरा खण्ड की दूरस्थ पंचायतों में से एक है। इस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने भी सहमति जताई।

किसान सभा के राज्याध्यक्ष डॉ. कुलदीप सिंह तँवर ने बताया कि 18 फरवरी को भी एक प्रतिनिधिमण्डल इन्हीं मुद्दों को लेकर निदेशक स्वास्थ्य से मिला था जिसके बाद जुन्गा और कोटी में स्टाफ नर्स तथा फारमासिस्टों की नियुक्ति की गई थी और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, मशोबरा में एम्बुलैंस का इंतज़ाम किया गया था।

डॉ. तँवर ने कहा कि कसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र में अभी भी विभिन्न श्रेणियों में 51 पद खाली हैं जिनमें से 47 पद ग्रामीण स्वास्थ्य संस्थानों में खाली हैं। वहीं सिविल अस्पताल जुन्गा में स्वीकृत 50 बिस्तरों के स्थान पर 25 बिस्तर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, मशोबरा में 30 बिस्तरों की जगह 10 बिस्तर और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोटी में तो 30 बिस्तरों की स्वीकृति के बावजूद एक भी बिस्तर उपलब्ध नहीं है।

वहीं कई संस्थान ऐसे हैं जिनके भवन तो बन चुके हैं लेकिन ज़मीन स्वास्थ्य विभाग के नाम नहीं हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मशोबरा की ज़मीन अभी भी Directorate of Scheduled Castes, Other Backward Classes & Minority Affairs, Government of Himachal Pradesh के पास है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, धरेच का भवन भी वन भूमि पर बना है और इसकी ज़मीन का तबादला भी अभी विभाग को नहीं हुआ है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, ट्राई अभी तक भी किराये के भवन में चल रहा है। इसके लिए 5 बीघा वन भूमि की आवश्यकता है। चर्चा में यह बात भी सामने आई कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, कोटी के लिए भी अतिरिक्त भूमि की आवश्यकता होगी।

सिविल अस्पताल जुन्गा में कोई एम्बुलेंस की मांग के साथ-साथ महिला समिति ने जुन्गा अस्पताल में महिला लोग विशेषज्ञ की नियुक्ति की भी मांग की। साथ ही ट्राई में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के श्री इन्द्र सिंह के निजी मकान में होने के कारण अप्रैल 2022 से किराये के भुगतान बारे भी अवगत कराया गया।

इसके अलावा जुन्गा अस्पताल में पानी की दिक्कत, सफाई कर्मचारी, मरीज़ों के लिए मैस की मांग भी उठाई गई। अतिरिक्त निदेशक राजीव कुमार ने जानकारी दी कि अब सफाई और मरीज़ों के लिए भोजन आदि की व्यवस्था का काम आऊटसोर्स पर ही करवाया जाएगा।

इसी दौरान प्रतिनिधिमंडल मिशन डायरेक्टर एनएचएम हेमराज बैरवा से भी मिले और जुन्गा के लिए एम्बुलेंस सेवा लगाने का आग्रह किया।

प्रतिनिधिमण्डल में किसान सभा के राज्य वित्त सचिव सत्यवान पुण्डीर, महिला समिति की राज्याध्यक्षा डॉ. रीना सिंह तंवर, किसान सभा से कपिल शर्मा, नवीन शर्मा, शिव कुमार वर्मा, अनोखी राम, रती राम, इन्दिरा, वनीता, मंजू शर्मा, निर्मला, सीमा, सुरेश, होशियार सिंह, बाबू राम शर्मा, शेर सिंह थापा, लक्ष्मी राम शर्मा, सुनील वशिष्ठ आदि शामिल रहे।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.