April 24, 2024

मनाली की जाना घाटी को पर्यटन की दृष्टि से कर रहे हैं विकसित: गोविंद ठाकुर

1 min read

करोड़ों के विकास कार्य पाइप लाइन में
कुल्लू। मनाली विधानसभा के अंतर्गत जाना घाटी को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के लिए अनेकों परियोजनाओं के निर्माण कार्य जारी हैं। जाना में एक करोड़ की लागत से वन विभाग के विश्राम गृह का निर्माण कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। यह बात शिक्षा कला भाषा एवं संस्कृति मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने गत देर सायं जाना में जनसभा को संबोधित करते हुए कही।
गोविंद ठाकुर ने कहा कि क्षेत्र के देवता जी व नारायण के भंडारण भवन का लगभग एक करोड रुपए की लागत से निर्माण किया गया है ‌ । उन्होंने इस कार्य में गांव के लोगों के योगदान की सराहना की और उन्हें इस खूबसूरत भवन के लिए बधाई दी। उन्होंने ग्राम पंचायत की मांग को पूरा करते हुए सराय भवन के निर्माण को अपनी सहमति दी और कहा कि लगभग एक करोड़ की लागत से एक भव्य सराय भवन का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जाना पाल इस क्षेत्र में पर्यटकों के लिए बड़ा आकर्षण है और यह पूरी घाटी काफी खूबसूरत है। उन्होंने कहा नगर- जाना- बिजली महादेव सड़क के निर्माण के लिए 20 लाख की राशि स्वीकृत की गई है और इसके लिए निविदाएं आमंत्रित कर ली गई हैं।
क्षेत्र के विकास की चर्चा करते हुए गोविंद ठाकुर ने कहा कि नथान से जाना सड़क के सुधार के लिए 22 लाख रुपए का प्राक्कलन तैयार किया गया है और इसे स्वीकृति के लिए भेजा गया है। उन्होंने कहा 114.24 लाख की लागत से राजकीय उच्च पाठशाला जाना का कार्य जल्द शुरू किया जाएगा। नगर से नथान सड़क के विस्तार के लिए 21 लाख का एस्टीमेट तैयार करके स्वीकृति के लिए भेजा है। उन्होंने कहा कि नथान राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के खेल मैदान को 60 लाख की लागत से विकसित किया जाएगा ताकि इसका उपयोग हेलीपैड के तौर पर भी किया जा सके।
शिक्षा मंत्री ने कहा कि नगर से मशारा संपर्क मार्ग की पेवमेंट का कार्य अट्ठारह लाख की लागत से पूरा कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि नगर से कृष्णा नगर सड़क को पक्का करने के लिए 645 लाख की डीपीआर भेजी गई हैं। सोयल थांदला सड़क का कार्य 377 लाख की लागत से प्रगति पर है। राजकीय उच्च विद्यालय हलान के भवन का निर्माण कार्य 338 लाख की लागत से पूरा किया गया है । इसी प्रकार नगर.रूमसु सड़क का कार्य पीएमजीएसवाई के तहत 225 लाख की लागत से पूरा किया गया है।
गोविंद ठाकुर ने कहा कि हलान घाटी के सभी गांवों में बिजली की समस्या को दूर करने के पूरे प्रयास किए गए हैं। जाना फॉलए आशणी और गौहरू के लिए 63 केवीए का ट्रांसफार्मर 18 लाख की लागत से स्थापित किया गया है। छनाल्टी मैं 63 केवीए ट्रांसफॉर्मर का काम 18 लाख की लागत से प्रगति पर है और इससे जाना छनालटी व देव धार गांव के लोग लाभान्वित होंगे। इसी प्रकार 257 लाख रुपए की लागत से लारानकेलो में 33 केवी उच्च ताप लाइन बनाई गई है इससे क्षेत्र में बिजली के कट सर्दियों के दौरान नहीं लगेंगे। उन्होंने कहा कि 4ण्60 लाख की लागत से जाना जिया छनालटी लाइन को अपग्रेड करके तीन फेस किया जा रहा है। धम्मा में 33 केवीए ट्रांसफॉर्मर का काम पूरा किया गया है। 8.50 लाख रुपए की लागत से निर्मित इस ट्रांसफार्मर से माइली जोला व बागा गांव के लोग लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा 16 लाख की लागत से 63 केवी जियानी ट्रांसफार्मर स्थापित करने का काम प्रगति पर है और इससे लोअर जाना व ज्ञियानी गांव को लाभ पहुंचेगा। शेरनी के मौजूदा 25 केवी ट्रांसफॉर्मर को 63 केवी अपग्रेड कर किया जा रहा है और इस पर ढाई लाख रुपए लागत आएगी तथा चार गांव लाभान्वित होंगे। इसी प्रकार नथान ट्रांसफार्मर की क्षमता 25 केवी से 100 केवी की जा रही है।

इस अवसर पर प्रदेश भाजपा की उपाध्यक्ष धनेश्वरी ठाकुर ने अपने संबोधन में कहा कि शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने मनाली विधानसभा क्षेत्र के विकास में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। वह दिन रात क्षेत्र के विकास और लोगों की समस्याओं के समाधान में व्यस्त रहते हैं। उन्होंने कहा जाना ग्राम पंचायत में अनेक विकास कार्य पिछले साढे 3 सालों के दौरान शुरू किए गए जिनसे लोग लाभान्वित हो रहे हैं।
धनेश्वरी ठाकुर ने कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जन कल्याण की अनेक योजनाएं शुरू की है जिनका लाभ समाज के प्रत्येक व्यक्ति को मिला है। उन्होंने कहा आयुष्मान भारत योजना देश के 50 करोड़ लोगों का मुफ्त उपचार करने के लिए बनाई गई। जो लोग आयुष्मान योजना में कवर नहीं हुए उन्हें मुख्यमंत्री हिम केयर योजना शुरू की गई। उज्जवला योजना में देश के सभी गरीब व बीपीएल परिवारों की महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन प्रदान किए गए। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने एक कदम आगे हिमाचल ग्रहणी सुविधा योजना की शुरुआत की जिससे लाखों परिवारों को मुफ्त गैस कनेक्शन प्रदान किए गए। उन्होंने कहा कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लिए आयु सीमा पहले 80 साल से घटाकर 70 साल की और अब महिलाओं के लिए यह आयु सीमा 65 साल कर की गई है और हर महीने 15 सो रुपए सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही है। मुख्यमंत्री शगुन योजना बीपीएल परिवारों की बच्चियों को बड़ा आर्थिक सहारा बनकर उभरी है। मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना में पढ़े लिखे नौजवान उद्यम स्थापित करके ना केवल स्वावलंबी बने हैं बल्कि दूसरों को भी रोजगार प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने अनेक अनन्या योजनाओं की जानकारी भी उपस्थित जनसमूह को दी। उन्होंने कहा विशेषकर महिलाओं को अपने अधिकारों और उनके लिए बनाई गई अनेक प्रकार की योजनाओं के बारे में सजग होना चाहिए और इनका समुचित लाभ प्राप्त करना चाहिए।

इससे पूर्व जाना ग्राम पंचायत की प्रधान अजीता ठाकुर ने स्वागत किया और मुख्य अतिथि को सम्मानित किया। उन्होंने मंत्री के समक्ष पंचायत की अनेक मांगे भी प्रस्तुत की। देवता देवनारायण के कार दार ने भी मुख्य अतिथि व अन्य का स्वागत किया।

समारोह में मंडल अध्यक्ष दुर्गा सिंह ठाकुरए महामंत्री देवेंद्र ठाकुरए पंचायत समिति के अध्यक्ष कुंदन लालए सदस्य इंद्रदेव, उप प्रधान रोशन लालए पूर्व बीडीसी सदस्य अमर चंद, पूर्व प्रधान सुखदास लालचंद व श्याम लाल, एसडीएम कुल्लू विकास शुक्ला सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व भाजपा तथा पंचायती राज संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.