भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से दिल्ली मिलने पहुंचे मदन मोहन शर्मा

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 अब ज्यादा दूर नहीं है। इस साल के अंत तक राज्य विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में प्रदेश भर में राजनितिक सरगर्मियां तेज़ हो गयी है। प्रदेश से लेकर केन्द्रीय हाईकमान से मिलने के लिए दिग्गज नेताओं की होड़ लगी है। कुछ सोभाग्यशाली नेताओं को शीर्ष नेत्रित्व के सामने अपनी बात रखने का मौक़ा मिल पा रहा है तो अन्य नेताओं को मिलने के लिए कई चक्कर भी काटने पड़ रहे है।
बीते कल पांवटा साहिब भाजपा के वरिष्ठ नेता मदन मोहन शर्मा भी देश की राजधानी दिल्ली में नज़र आये, उन्होंने यहाँ भाजपा राष्ट्रिय अध्यक्ष जेपी नड्डा से समय लिया और उनके साथ पांवटा साहिब की राजनीती के हालात सांझा किये। हलाकि इस दौरान कई प्रदेशों के मुख्यमंत्री भी भाजपा राष्ट्रिय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करने पहुंचे थे। अपने अति व्यस्त समय में से भाजपा राष्ट्रिय अध्यक्ष ने पांवटा साहिब भाजपा के वरिष्ठ नेता मदन मोहन शर्मा को भी मुलाकत का मौक़ा दिया। सूत्र बताते है की इस दौरान मदन मोहन शर्मा ने पांवटा साहिब में वर्तमान में चल रही राजनीती के हालात पर खुल कर चर्चा की। विधानसभा क्षेत्र पांवटा साहिब में कितना विकास हुआ और यहाँ किस तरह से विकास होना चाहिए इस विषय पर भी वार्तालाप हुई।
आपको बताते चलें की भाजपा वरिष्ठ नेता मदन मोहन शर्मा लम्बे समय से जेपी नड्डा के करीबियों में से एक माने जाते रहे है। नड्डा जब प्रदेश की राजनीती में थे तो कई बार पांवटा साहिब प्रवास के दौरान शर्मा परिवार से भी मिलकर गये। इस बार भाजपा राष्ट्रिय अध्यक्ष जेपी नड्डा के पांवटा प्रवास के दौरान मदन मोहन शर्मा समर्थकों ने नड्डा का भव्य स्वागत किया जिससे जेपी नड्डा भी खुश नज़र आये थे। हालाँकि इस दौरान मदन मोहन शर्मा को भाजपा राष्ट्रिय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात का बहुत ज्यादा समय नहीं मिल पाया था लेकिन स्वागत के दौरान ही उन्हें दिल्ली में ही मुलाकात करने का इशारा मिल गया था। पांवटा साहिब में कार्यक्रम के दौरान नड्डा से बात करते हुए मदन मोहन शर्मा की फोटो भी काफी वायरल हुई थी, जिस पर कई तरह की चर्चाएं चल रही थी।
बीते कल की मुलकात और पांवटा साहिब में स्वागत के दौरान नड्डा और मदन शर्मा की चंद क्षणों की मुलाकात की फोटो काफी कुछ ब्यान कर रही है। जिसे आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर पांवटा साहिब की राजनीती में बड़े फेरबदल से भी जोड़ा जा रहा है।
हालाँकि मदन मोहन शर्मा ने हाल ही में टिकट की प्रबल दावेदारी की बात कही थी, वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भी मदन मोहन शर्मा पार्टी टिकट के प्रबल दावेदार थे। लेकिन उन्होंने पार्टी के निर्णय को सर्वोपरि मानते हुए भाजपा प्रत्याशी की जीत में भागीदारी सुनिश्चित की और ऊर्जा मंत्री की रिकार्ड जीत के साक्षी बने। आपको बताते चले की मदन मोहन शर्मा न केवल वरिष्ठ नेता है बल्कि एक सफल उद्योगपति व समाजसेवी के रूप में भी आपकी अलग पहचान रखते है। हिमाचल सरकार को सबसे ज्यादा टेक्स देने वालो की सूची में भी मदन मोहन शर्मा का नाम शुमार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.