विकास और कल्याणकारी योजनाओं में आदर्श बनकर उभरा हिमाचल: जय राम ठाकुर

अर्की विधानसभा क्षेत्र के लिए 54 करोड़ के लोकार्पण और शिलान्यास किए

हिमाचल प्रदेश के अस्तित्व में आने केे 75वें वर्ष के उपलक्ष्य पर प्रदेश भर में आयोजित किए जा रहे ‘प्रगतिशील हिमाचलः स्थापना के 75 वर्ष’ समारोहों की कड़ी में मंगलवार को मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने अर्की विधानसभा क्षेत्र के कुनिहार के हाटकोट में एक विशाल जनसभा को संबोधित किया।
इस अवसर पर जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रत्येक हिमाचली के लिए यह गौरव की बात है कि यह खूबसूरत प्रदेश अपनी स्थापना के 75 वर्ष पूरे करने जा रहा है। 75 वर्षों के इस गौरवशाली सफर को प्रदेश सरकार शानदार ढंग से मना रही है तथा राज्य भर में 75 कार्यक्रम आयोजित कर रही है। इन आयोजनों का उद्देश्य प्रदेश की गौरवशाली विकास यात्रा और उपलब्धियों को प्रदर्शित करना है। उन्होंने सभी प्रदेशवासियों से इन आयोजनों में सक्रिय रूप से भाग लेने और राज्य के इस शानदार सफर का हिस्सा बनने का आग्रह किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कठिन भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद इन वर्षों के दौरान हिमाचल ने अभूतपूर्व विकास किया है। इसका श्रेय राज्य के सक्षम नेतृत्व के साथ-साथ प्रदेश के मेहनती और ईमानदार लोगों को भी जाता है। उन्होंने कहा कि स्थापना के बाद हिमाचल प्रदेश के आकार में ही वृद्धि नहीं हुई है, बल्कि इस पहाड़ी राज्य ने सभी क्षेत्रों में तीव्र विकास किया है। जय राम ठाकुर ने कहा कि गठन के समय राज्य की साक्षरता दर केवल 4.8 प्रतिशत थी, जबकि आज यह 83 प्रतिशत से अधिक हो गई है। प्रदेश में शिक्षण संस्थानों की संख्या 301 से बढ़कर 16,124 से भी पार हो गई है। वर्ष 1948 में सड़कों की लंबाई केवल 228 किलोमीटर थी और आज यह बढ़कर 39,500 किलोमीटर हो गई है। इनमें 20,000 किलोमीटर से अधिक सड़कों का निर्माण पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा शुरू की गई महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के माध्यम से किया गया है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि सीमित संसाधनों के बावजूद हिमाचल प्रदेश विकास और जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में देश के अन्य राज्यों के लिए एक आदर्श बनकर उभरा है। राज्य को एक अलग पहचान मिली है और विभिन्न क्षेत्रों में इसकी उपलब्धियों की राष्ट्रीय स्तर पर सराहना हुई है। जय राम ठाकुर ने कहा कि विपक्ष के कई नेता प्रदेश के गौरवशाली सफर और उपलब्धियों को एक उत्सव के रूप में मनाने का विरोध कर रहे हैं। इससे उनकी हताशा साफ झलक रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक हिमाचली को राज्य की उपलब्धियों पर गर्व महसूस करना चाहिए और युवा पीढ़ी को भी इन उपलब्धियों से अवगत करवाना चाहिए।
सोलन जिले की विकास यात्रा का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 1972 में गठन के समय जिले में सिर्फ 476 स्कूल थे, जबकि आज यहां 1108 से ज्यादा शिक्षण संस्थान हैं। उन्होंने कहा कि अर्की विधानसभा क्षेत्र के पिछले दौरे के दौरान उन्होंने 14 नई परियोजनाओं की घोषणा की थी, जिनमें से 13 को पूर्ण कर क्षेत्र के लोगों को समर्पित किया गया है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने हिमाचली टोपी और टोपी के रंग का भी राजनीतिकरण कर दिया था। उस समय प्रतिशोध और उत्पीड़न की राजनीति अपने चरम पर थी।
जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान करने के लिए 1300 करोड़ रुपये से अधिक व्यय कर रही है, जबकि कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान 400 करोड़ रुपये व्यय किए गए थे। उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस एक नेतृत्वविहीन और दिशाहीन पार्टी है, जो आपसी प्रतिस्पर्धा में ही उलझी हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता वर्तमान सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों में विश्वास जताकर आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा सरकार का मिशन रिपीट सुनिश्चित करेगी ताकि प्रदेश में विकास की गति निर्बाध रूप से चलती रहे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना, सहारा योजना, हिमकेयर, मुख्यमंत्री शगुन जैसी अनेक योजनाएं समाज के कमजोर वर्गों के लिए वरदान साबित हो रही हैं। उन्होंने कहा कि हिमकेयर योजना के अन्तर्गत 3.32 लाख से अधिक लोगों को निःशुल्क उपचार प्रदान किया गया है और सहारा योजना के अन्तर्गत 20,000 से अधिक लोगों को प्रति माह 3000 रुपये की राशि प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के बिजली उपभोक्ताओं को 125 यूनिट निःशुल्क बिजली और हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में महिलाओं को बस किराए में 50 प्रतिशत की छूट भी प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों के घरेलू जल उपभोक्ताओं को भी निःशुल्क पानी उपलब्ध करवा रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार क्षेत्र की विकासात्मक मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगी ताकि इनसे लोग लाभान्वित हो सकें।
इससे पहले, मुख्यमंत्री ने सोलन जिले के अर्की विधानसभा क्षेत्र के लिए कुनिहार में लगभग 54 करोड़ रुपये की 21 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास किये।
जय राम ठाकुर ने 5.71 करोड़ रुपये से निर्मित मंगेरवाड़ी भजोत सड़क, 36 लाख रुपये से निर्मित सेरी जेरी सड़क, दाड़लाघाट में 27 लाख रुपये से निर्मित गृह रक्षक भवन, 1.35 करोड़ रुपये से निर्मित तालाब बेहली सड़क, अर्की में 77 लाख रुपये से निर्मित उप कोषागार कार्यालय भवन, 3.81 करोड़ रुपये से निर्मित खलीघाटी कालद्वार फलोथन कंगरीधार सड़क और कुनिहार में 62 लाख रुपये से निर्मित विषय वाद विशेषज्ञ (कृषि) के कार्यालय एवं आवास बीज फार्म भवन का लोकार्पण किया।
मुख्यमंत्री ने गांव स्कोर, ग्राम पंचायत बरेल के समीपवर्ती गांवों और कंधार, अर्की विधानसभा क्षेत्र की तहसील अर्की के शेष गांवों के लिए 17.29 करोड रुपये से निर्मित होने वाली उठाऊ जलापूर्ति योजना, तहसील अर्की के गम्बर खड्ड से गांव भुमपती, धार ब्राह्मण इत्यादि के लिए 6.47 करोड़ रुपये से निर्मित होने वाली उठाऊ सिंचाई योजना, तहसील रामशहर में मसौल में खवाच खड्ड पर 5.65 करोड़ रुपये से निर्मित होने वाले चैक डैम, तहसील रामशहर में लगदाघाट ग्राम पंचायत के गांव ओखू के लिए 1.39 करोड़ रुपये से निर्मित होने वाली उठाऊ सिंचाई योजना और तहसील रामशहर में उठाऊ सिंचाई योजना के 88 लाख रुपये लागत के सुधार कार्यों का शिलान्यास किया।
मुख्यमंत्री ने डोमैहर में 59 लाख रुपये से निर्मित होने वाले पशु औषधालय भवन, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय (छात्र) कुनिहार में 81 लाख रुपये से निर्मित होने वाली विज्ञान प्रयोगशाला, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला दाड़लाघाट के 52 लाख रुपये से निर्मित होने वाले अतिरिक्त कमरों, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चंडी में खेल मैदान के 1.02 करोड़ रुपये के संरक्षण कार्य, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बथालंग में 3.72 करोड़ रुपये से निर्मित होने वाले द्वितीय व तृतीय तल, सरियांज बाड़ीधर से उपरली पंबर तक 89 लाख रुपये से निर्मित होने वाली सम्पर्क सड़क, लिलीफॉर्म से पनसोडा तक 47 लाख रुपये से निर्मित होने वाले सम्पर्क मार्ग, सियार तून जावी बागी और सियार तवाड़ी सड़क से 74 लाख रुपये से निर्मित होने वाली सम्पर्क सड़क और कुनिहार बैंज-की हट्टी शैली-ब्रह्मपुखर सड़क पर लाधी से डोमेहर तक 33 लाख रुपये से सीमेंट कंक्रीट इंटरलॉक ब्लॉक बिछाने के कार्य का शिलान्यास किया।
मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों, बोर्डों और निगमों द्वारा लगाई गई हिमाचल तब और अब थीम पर आधारित प्रदर्शनी का भी उद्घाटन किया।
इससे पहले कुनिहार पहुंचने पर स्थानीय लोगों द्वारा मुख्यमंत्री का शानदार स्वागत किया गया।
इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि साढे सात दशकों में हिमाचल प्रदेश ने सभी क्षेत्रों में अद्वितीय विकास किया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार के पौने पांच वर्ष के कार्यकाल को हिमाचल के इतिहास में एक उपलब्धियों भरे कालखंड के रूप में याद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस दौरान प्रदेश में स्वास्थ्य क्षेत्र को अतिरिक्त प्राथमिकता दी गई है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी चिकित्सा संस्थानों में मरीजों को और बेहतरीन सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए जल्द ही डॉक्टरों के 500 पद भरे जाएंगे।
समारोह के दौरान भाजपा उपाध्यक्ष रत्न सिंह पाल ने मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि गत पौने पांच वर्षों के दौरान अर्की विधानसभा क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बावजूद मुख्यमंत्री ने प्रदेश में विकास कार्यों की तेज गति को बरकरार रखा है। रत्न सिंह पाल ने मुख्यमंत्री के समक्ष क्षेत्र की विभिन्न मांगें भी रखीं।
इस मौके पर दून के विधायक परमजीत सिंह पम्मी, अर्की के पूर्व विधायक गोविंद राम शर्मा, नालागढ़ के पूर्व विधायक के.एल. ठाकुर, जिला भाजपा अध्यक्ष आशुतोष वैद्य, जिला परिषद सदस्य अमर सिंह ठाकुर और आशा परिहार, मंडल अध्यक्ष डी.के. उपाध्याय और अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.