भाजपा ने जारी किया संकल्प पत्र, यूनिफॉर्म सिविल कोड होगा लागू, महिलाओं को नौकरी में 33 फीसदी आरक्षण 

 

 

 

 

राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सौदान सिंह, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप्, केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, राज्यसभा सांसद इन्दु गोस्वामी, डॉ सिंकदर कुमार, पूर्व प्रभारी मंगल पांडे, महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्षा रश्मिधर सूद, पूर्व मंत्री हर्ष महाजन और प्रदेश उपाध्यक्ष पायल वैद्य की उपस्थिति में भारतीय जनता पार्टी के संकल्प पत्र 2022 का जारी किया।

 

भाजपा का संकल्प पत्र मुख्य रूप से भारतीय जनता पार्टी महिला सशक्तिकरण की प्रतिबद्धता को दर्शाता हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा की उपस्थ्तिि में विमोचित किए गए संकल्प पत्र में प्रदेश के हर वर्ग के उत्थान का रोड़ मैप तैयार किया गया है लेकिन प्रदेश की आधी आबादी को सशक्त करना इसका मुख्य लक्ष्य रहने वाला हैं।

 

संकल्प पत्र 2022 में, कृषि और कृषि से सम्बधित क्षेत्र को उन्नत और आर्कषक बनाने के लिए और किसान की आय बढ़ाने के लिए भाजपा सरकार ने नवीनतम कृषि तकनीकों के उपयोग को बढ़ावा दिया हैं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री अन्नदाता सम्मान निधी के तहत 3 हजार रूपये की राशि वार्षिक रूप से किसानों को दी जाएगी। यह राशि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधी से अलग होगी। भारतीय जनता पार्टी की सरकार 8 लाख नौकरियों के अवसर के सृजन के लिए कृत संकल्प हैं।

 

संकल्प पत्र 2022 में, स्त्री शक्ति और महिला सशक्तिकरण को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए भाजपा सरकार ने सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में 33 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था करने का संकल्प लिया हैं। इसके साथ ही 2 कन्या छात्रावास हर ज़िले में खोलें जाऐंगे। जिससे कि उच्च शिक्षण संस्थानों में अध्ययनरत छात्राओं को भारी भरकम खर्च से निज़ात मिलेगी। सरकारी स्कूलोेें में 12वीं बोर्ड परीक्षा मेें मैरिट पर आने वाली पहली 5 हजार छात्राओं को स्नातक की पढ़ाई के दौरान 2500 प्रतिमाह छात्रवृति प्रदान की जाएगी। सरकारी स्कूलोें में पढ़ने वाली कक्षा 6 से 12वीं की छात्राओं को साइकिल प्रदान की जाएगी और उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाली छात्राओं को स्कूटी दी जाएगी। गरीब परिवार की 30 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं को अटल पैंशन योजना में सम्मिलित किया जाएगा।

 

भारतीय जनता पार्टी के संकल्प पत्र में देवी अन्नपूर्णा योजना’ के तहत गरीब परिवारों की महिलाओं को 3 मुफ्त सिलेंडर प्रतिवर्ष देने का संकल्प लिया गया हैं। बीपीएल परिवारों को मिलने वाली मुख्यमंत्री शगुन योजना के तहत सहयोग राशि को 31 हजार से बढ़ाकर 51 हजार किया जाएगा। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने गर्भबती महिलाओं को उच्च चिक्त्सिीय सहायता प्राप्त करने हेतु और माता और बच्चे की देखभाल के लिए 25 हजार की राशि प्रदान की जाएगी। महिला स्वास्थ्य को सुदृढ करने के लिए सभी महिलाओं को स्त्री शक्ति कार्ड दिए जाऐंगे। जिसमें हिमकेयर कार्ड के अन्तर्गत ना आने वाली सभी चिकित्सीय सुविधाएं प्रदान की जाएगी।

 

संकल्प पत्र में सभी गांव को प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत आगामी 5 वर्षों में पक्की सड़कों से जोड़ने का संकल्प लिया गया। शक्ति योजना के तहत धार्मिक पयर्टन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से 12 हजार करोड़ के बज़ट का प्रावधान करते हुए आधारभूत संरचना को सुदृढ़ किया जाएगा। भाजपा सरकार सेब पैकेजिंग सामग्री पर किसानों द्वारा जीएसटी भुगतान को 12 प्रतिशत तक सीमित किया जाएगा, इसके अतिरिक्त का खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। 5 नए मेडिकल कॉलेज खोलें जाऐंगे, तथा मोबाइल क्लीनिक वैन की संख्या को हर विधानसभा क्षेत्र में दुगुना किया जाएगा। वक्फ बोर्ड के तहत आने वाली सम्पतियों की अनियमित्ताओं की जांच न्यायिक आयोग द्वारा की जाएगी।सरकारी कर्मचारियों की वेतन विंसगतियों का दूर किया जाएगा। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने हिम स्टार्टअप योजना के तहत 9 सौ करोड़ रूपयेे के कोष का प्रावधान युवाओं को स्वरोजगार व स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.