May 24, 2024

एबीवीपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में हिमाचल के कार्यकर्ताओं को मिली जिम्मेवारियां

1 min read

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का 68वां राष्ट्रीय अधिवेशन जयपुर (राजस्थान) में संपन्न

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का 68वां राष्ट्रीय अधिवेशन महाराणा प्रताप नगर, जयपुर में संपन्न हुआ। इसमें वर्ष 2022-23 की नव कार्यकारिणी का गठन किया गया जिसमें हिमाचल प्रदेश के कार्यकर्ताओं को भी राष्ट्रीय कार्यकारिणी में दायित्व मिले हैं।
इनमें एबीवीपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ प्रदीप कुमार (धर्मशाला), राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य डॉ नागेश ठाकुर (शिमला),
कोमल वेकटा (धर्मशाला), प्रदेश संगठन मंत्री गौरव अत्री (शिमला) , राष्ट्रीय कला मंच राष्ट्रीय संयोजिका गुंजन ठाकुर (शिमला), राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य डॉ रमेश ठाकुर (शिमला)
,शिल्पा कुमारी (शिमला) , अमन राणा (शिमला)
अभिनव (मंडी) शामिल हैं,

प्रदेश मंत्री आकाश नेगी ने बताया कि अभाविप का 68वां राष्ट्रीय अधिवेशन 18 साल बाद गुलाबी नगरी, जयपुर में आयोजित किया गया। अधिवेशन में कुल पांच प्रस्ताव पारित किए गए, जो शिक्षा संबंधी प्रस्ताव; पीएफआई पर भारत सरकार द्वारा बैन लगाए जाने पर अभाविप के समर्थन को लेकर बिंदु, जी–20 की भारत देश द्वारा अध्यक्षता के क्रम में इस मंच के माध्यम से विश्व‌ को भारतीय मूल्यों से अवगत कराने आदि से संबंधित विषयों पर केन्द्रित हैं। इस युवाओं के महाकुंभ में भारत के साथ नेपाल और भूटान के साथ दुनिया के कई दूसरे देश से भी प्रतिनिधि हिस्सा लेने आये थे। जिन्होंने शिक्षा और राष्ट्र के साथ समाज के ज्वलंत मुद्दों पर मंथन और चिंतन किया। इस राष्ट्रीय अधिवेशन में पूरे भारत के प्रत्येक राज्य से कार्यकर्ता शामिल हुए थे।

प्रदेश मंत्री ने बताया की अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने अपने पूर्व के सभी कीर्तिमानों को ध्वस्त करते हुए नया इतिहास रचा है, विद्यार्थी परिषद की सदस्यता 45 लाख पार कर गई है। विद्यार्थी परिषद के साढ़े सात दशक में कभी भी इतनी सदस्यता नहीं हुई थी। इस प्रकार एक बार फिर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने विश्व के सबसे बड़े छात्र संगठन का गौरव बरकरार रखते हुए ऐतिहासिक सदस्यता की है।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.