चुनाव में अपने काम की बदौलत रिवाज बदलें के लिए भाजपा तैयार एवं आश्वस्त : सुरेश भारद्वाज

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने राजधानी शिमला में पत्रकार वार्ता को संबोधित करतेे हुए कहा कि आज भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष एवं केन्द्रीय गृह मंत्री अमितशाह ने हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के सतौन में हाटी आभार रैली को संबोधित किया। 55 वर्षाें से लंबित हाटी समुदाय को जनजातीय दर्जा देने की मांग को पूरा करने पर हाटी समुदाय ने केन्द्रीय मंत्री का आभार जताया। उन्होंने कहा कि पुर्ववर्ती सरकारों ने हाटी की मांग को हमेशा ही अनदेखा किया। जबकि मुख्यमंत्री सिरमौर जिला से भी रहे हैं। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि हाटी को जनजातीय दर्जा देने से अनुसूचित जाति के अधिकारों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। उनका दर्जा व आरक्षण यथावत रहेगा।

उन्होंने बताया कि देश के यशस्वी गृहमंत्री और लौह पुरूष अमित शाह ने हिमाचल में चुनाव का विजय शंखनाद कर दिया है, आज तीन नारें, एक गीत लॉन्च किया गया जो प्रदेश में भाजपा सरकार का संकल्प रहा है। हमारी सरकार ने “सच्ची सेवा, अच्छा काम फिर से भाजपा मोदी-जयराम,“ “हिमाचल से जुड़े हैं, हिमाचल के लिए खड़े हैं“ का नारा और साथ ही भाजपा सरकार का “विश्वास गीत“ भी जनता को समर्पित किया। यह गीत “सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास के संकल्प को दर्शाता है, यह गीत हिमाचल में बदलने जा रहे रिवाज की कहानी सुनाता है“। यह नारे और गीत मात्र नहीं, यह संकल्प है, जिनकी सिद्धि हमारी सरकार ने पूर्ण की है।

जो लोग लोकतंत्र की दुहाई देते हैं वो खुद आज लोकतांत्रिक व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कांग्रेस के नेता ईवीएम की सुरक्षा पर सवाल अभी से उठाने लगे हैं, यह तैयारी है अपनी विफलता और हार को छिपाने की। काँग्रेस के नेता चुनाव से पहले ही हार मान चुके हैं इसलिए ईवीएम की सुरक्षा का रोना रो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह की मानसिकता हिमाचल की सुरक्षा एजंसियों और कर्मचारियों का अपमान है।
उन्होंने कहा कि राजस्थान और छतीसगढ़ में चुनाव क्या बैलेट पेपर से हुए थे? जहां-जहां कांग्रेस चुनावों में जीत हासिल करती है वहां तो ईवीएम ठीक होती है, जहां हार का सामना करती है वहां हार का दोष ईवीएम पर मढ़ देती है।

सुरेश भारद्वाज ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी कहते थे कि यदि हम एक रूपया यहां से किसी योजना के तहत भेजते हैं तो वह जमीनी स्तर तक केवल 15 पैसे ही पहंुचते हैं। 85 पैसे व्यवस्था में व्याप्त भ्रष्टाचार की बलि चढ़ जाते है। परंतु अब वह समय है कि अगर 1 रूपया किसी योजना के तहत आता है तो वह जमीनी स्तर तक पहंुचता है। केन्द्र और प्रदेश की सरकारों के प्रयासों से और सभी के जनधन खाते खुलने से अब किसान सम्मान नीधि, मनरेगा, सामाजिक सुरक्षा पेंशन सीधे लाभार्थी तक पहंुचते है।

भारद्वाज ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस अनाप-शनाप गारंटियां दे रही है जो किसी भी तरह से व्यवहारिक नहीं है, क्यांेकि वह जानती है कि प्रदेश की सत्ता में वापसी मुश्किल है। इसलिए लोगो को गुमराह किया जा रहा है। इनके राष्ट्रीय युवराज जिनको यह पता नहीं है कि आटा किलो में या लीटर में बिकता है और दूसरी तरफ राजकुमारी हिमाचल में पिछले 10 दिनों से विश्राम कर रहे थे क्या उन्होंने हिमाचल के कांग्रेस कार्यक्रताओं से संवाद किया है? क्या ऐसा नेतृत्व हिमाचल को सही दिशा में ले जा सकता या विकास में भागीदार बन सकता है। जबकि दूसरी तरफ केन्द्र और प्रदेश की डबल इंजन सरकार है और सुदृढ़ मोदी-जयराम नेतृत्व जिसने अपनी योजनाओं के माध्यम से हर वर्ग को लाभ पहुंचाया है चाहे वह आयुष्मान भारत योजना हो या प्रदेश की हिमकेयर योजना हो, उज्जवला योजना हो, या गृहिणी सुविधा योजना हो या फिर किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को संबल देने के लिए सहारा योजना हो। वहीं 125 युनिट बिजली मुफ्त देना हो या महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत बस किराये में छूट हो या सामाजिक सुरक्षा पेंशन को 60 वर्ष से अधिक आयु के हर व्यक्ति को देना हो। यह सभी योजनाएं आम जनमानस को लाभ पहुंचाने के लिए डबल इंजन की सरकार ने प्रदान की है। उन्होंने कहा कि हिमाचल में डबल इंजन की सरकार ने हर वर्ग को किसी न किसी तरह से लाभ पहुंचाया है और उनके जीवन स्तर को उन्नत करने के लिए प्रयास किया है। इसलिए भारतीय जनता पार्टी इस बार रिवाज बदलते हुए पुनः सत्ता में वापसी करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.