शिमला नागरिक सभा ने गिरी पड़ी कैथू अनाडेल सड़क जल्द दुरुस्त करने की मांग की

भर्ती दफ्तर के नजदीक गिरी है कैथू अनाडेल सड़क

शिमला नागरिक सभा की कैथू इकाई ने नगर निगम शिमला व प्रदेश सरकार से कैथू अनाडेल सड़क पर भर्ती दफ्तर के नजदीक सड़क गिरने से वाहनों व जनता पर मंडरा रहे खतरे पर गम्भीर चिंता प्रकट की है। नागरिक सभा ने मांग की है कि इस सड़क का मुरम्मत कार्य तुरन्त शुरू किया जाए।

नागरिक सभा नेता विजेंद्र मेहरा,कैथू इकाई संयोजक बालक राम व सह संयोजक रंजीव कुठियाला ने कहा है कि कुछ दिन पूर्व कैथू अनाडेल सड़क में पेड़ गिरने से वाहनों की आवाजाही बुरी तरह प्रभावित हुई थी। अब भर्ती दफ्तर के पास सड़क पूरी तरह धंसने से इस सड़क मार्ग पर भारी खतरा मंडरा रहा है। इस से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है इसलिए सड़क मुरम्मत का कार्य तुरन्त शुरू किया जाए। उन्होंने नगर निगम शिमला से जनता की सुरक्षा के लिए सड़क को तुरन्त दुरुस्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पेड़ गिरने से कैथू अनाडेल सड़क को कुछ दिन पूर्व बहुत नुक्सान हुआ था। अब भर्ती दफ्तर के पास सड़क धंसने से सड़क की स्थिति और ज़्यादा भयंकर हो गयी है। इस से वाहनों व स्थानीय जनता की सुरक्षा दांव पर है। उन्होंने कहा कि यह सड़क पूरी तरह ज़र्ज़र हो चुकी है। इस सड़क में कई जगह दरारें आ चुकी हैं। भर्ती दफ्तर व चिटकारा पार्क पर दो जगह सड़क पूरी तरह गिर चुकी है। पेड़ के गिरने के बाद सड़क पर भारी जोखिम लेकर वाहनों की आवाजाही हो रही है। ऐसे में उक्त स्थान पर कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है व जानमाल को भारी नुकसान हो सकता है। इसके अलावा चिटकारा पार्क में सड़क में कई मीटरों तक निरन्तर दरारें आ चुकी हैं। इस सड़क का ज़्यादातर हिस्सा कभी भी गिर सकता है। उन्होंने कहा कि यह सड़क गिरने से कभी भी कैथू अनाडेल पैदल मार्ग व सड़क में वाहनों की आवाजाही पूरी तरह बन्द हो सकती है जिस से जनता को भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। नागरिक सभा ने इस पूरे मसले पर नगर निगम शिमला की कार्यप्रणाली को गैर जिम्मेदाराना करार दिया है क्योंकि लगभग एक महीने से यह यथास्थिति बरकरार है व इस संदर्भ में कोई भी कार्य नहीं हो रहा है। उन्होंने हैरानी व्यक्त की है कि नगर निगम शिमला के प्रशासन को जनता के जानमाल के नुक्सान व सुरक्षा से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा कि केवल चिटकारा पार्क में पेड़ के कारण गिरी सड़क को आनन – फानन में दुरुस्त करके अगर नगर निगम शिमला ने अपनी जिम्मेवारी से पल्ला झाड़ने की कोशिश की व कई मीटरों तक ज़र्ज़र सड़क को ठीक न किया तो स्थानीय जनता सड़क पर उतरकर आंदोलन के लिए मजबूर होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.