May 22, 2024

कांग्रेस कल दिल्ली में राष्ट्रपति भवन और राजभवन का करेगी घेराव

1 min read

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की प्रवक्ता अल्का लांबा ने कहा है कि देश मे बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी,जीएसटी बढ़ाने और सेना में ठेका प्रथा अग्निपथ योजना के खिलाफ कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन, सत्याग्रह तब तक जारी रहेगा जबतक की सरकार इस पर कोई राहत व कार्यवाही नही करती। उन्होंने कहा कि कल 5 अगस्त को पूरे देश में इसके खिलाफ कांग्रेस दिल्ली में राष्ट्रपति भवन व प्रधानमंत्री आवास का घेराव करेंगी, जबकि राज्यों में कांग्रेस राजभवन का शांतिपूर्ण ढंग से घेराव करेगी। अगर इस दौरान पुलिस उन्हें गिरफ्तार करती है तो कांग्रेस अपनी गिरफ्तारियां भी देंगी।
आज यहां प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए अल्का लांबा ने कहा कि कांग्रेस के सदन में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी जैसे मसलों पर चर्चा से केंद्र की मोदी सरकार दो हफ़्तों तक भागती रही। कांग्रेस के दवाब के बाद इस पर एक अगस्त को चर्चा होती है।
अल्का लांबा ने केंद्रीय वित्त मंत्री के सदन में दिए भाषण को उनका अहंकार बताते हुए कहा कि उन्होंने अपने भाषण में कही भी महंगाई व बेरोजगारी पर कोई चिंता तक नही जताई। उन्होंने कहा कि भाजपा ने देश की बढ़ती समस्याओं से अपनी आंखें पूरी तरह मूंद रखी है।
लांबा ने कहा कि प्रदेश में चार उप चुनवों तक भाजपा को महंगाई बेरोजगारी कोई मुद्दा ही नही थी। उन्होंने कहा जब भाजपा को इन चारों उप चुनावो में मुंह की खानी पड़ी तब इन्हें लगा कि यह भी कोई मुद्दा है। उन्होंने कहा कि इसके बाद भाजपा ने देश के लोगों को बढ़ती मंहगाई से कुछ राहत दी,पर कुछ ही दिनों बाद इसे फिर से बढ़ा दिया गया।
अल्का लांबा ने भाजपा पर गरीबो का अपमान करने का आरोप लगाते हुए कहा कि 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन देने के लिये प्रधानमंत्री की प्रसंसा करना बहुत ही शर्मनाक है।
अल्का लांबा ने कहा कि आज देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह अस्त व्यस्त होकर रह गई है। उन्होंने कहा कि एमएसएमई के 9 लाख लोगों ने अपना काम धंधा बन्द कर दिया है जबकि इससे जुड़े एक करोड़ से अधिक लोग बेरोजगार हो गए है।

मोदी सरकार अपने राजनैतिक विरोधियों को जांच एजेंसियों से डराने का कर रही प्रयास

अल्का लांबा ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाया है कि वह अपने राजनैतिक विरोधियों को जांच एजेंसियों से डराने का प्रयास कर रही है।
नेशल हेराल्ड मामलें का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि 1931 में इस समाचार पत्र की छपाई शुरू हुई थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने इस समाचार पत्र को देश भक्ति और आजादी के लिये बगैर किसी वितीय लाभ के इसे चलाया। उन्होंने कहा कि इस समाचार पत्र का पूरा लेखा जोखा किताबो में है। उन्होंने कहा कि कई दिनों तक उनके नेता राहुल गांधी से इस बारे ईडी पूछताछ करती है और बाद में उनकी राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से पूछताछ होती है। उन्होंने कहा कि ईडी आज दिन तक यह नही बता पाया कि आखिर इस पूछताछ में क्या मिला है।
अल्का ने ईडी को चुनौती देते हुए कहा कि वह देश को 24 घण्टों में यह बताए कि उन्हें अब तक इस मामलें में क्या कुछ मिला है।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.