जांच एजेंसियों के दुरुपयोग को लेकर कांग्रेस का मोदी सरकार के खिलाफ प्रदेश भर में प्रदर्शन

Last updated on July 23rd, 2022 at 08:54 am

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर प्रदेश के सभी जिलों में केंद्र की मोदी सरकार द्वारा केंद्रीय जांज एजेंसियों के दुरुपयोग के विरोध में धरना प्रदर्शन आयोजित किया गया। यह धरना प्रदर्शन कांग्रेस जिलाध्यक्षों के नेतृत्व में किया गया, जिसमें क्षेत्र के विधायकों,पूर्व विधायकों सहित क्षेत्र के पार्टी पदाधिकारियों,सभी ब्लॉक अध्यक्ष व बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं ने भाग लेते हुए मोदी सरकार की तानाशाही नीतियों व निर्णयों के विरोध में केंद्र सरकार के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी करते हुए जलूस निकाला।
इस दौरान वक्ताओं ने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर झूठे मामलें बनाने की भाजपा सरकार की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि कांग्रेस इस अपमान को कदापि सहन नही करेगी। उन्होंने केंद्र कि मोदी सरकार पर जांच एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने आज संववैधानिक संस्थाओं की साख पर वटा लगा दिया है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के बाद पहली बार केंद्र में मोदी के नेतृत्व में आज एक ऐसी सरकार बैठी है जो पूरी तरह निरंकुश है,जहां लोगों की आवाज को दबाया जा रहा है,लोकतंत्र की मर्यादा को तार तार किया जा रहा है। विपक्षी दलों के नेताओं के साथ राजनीतिक प्रतिशोध के चलते उनपर झूठे आरोप लगा कर उन्हें बदनाम करने की साजिश की जा रही है।

प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में आयोजित इस विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस नेताओं ने केंद्र की मोदी सरकार की जमकर आलोचना करते हुए कहा कि प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों में जयराम सरकार की विदाई तय है। उन्होंने कहा की प्रदेश में चार उप चुनावों में कांग्रेस ने जिस प्रकार एकजुटता का संदेश पूरे देश को दिया था,ठीक उसी प्रकार का संदेश अबकी बार भाजपा को चारों खाने चित कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आज देश प्रदेश में जिस प्रकार महंगाई व बेरोजगारी बढ़ रही है उससे साफ है कि देश की समस्याओं से भाजपा को कोई लेना देना नही है।उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवाओं के भविष्य से भाजपा खिलवाड़ कर रही है उसका नतीजा अब भाजपा को इन चुनावों में करारी हार से भुगतना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.