तीन दिन में हटाए मुख्य सचिव, अन्यथा सचिवालय का होगा घेराव



भ्रष्टाचार की शिकायत के मामले में प्रदेश के मुख्य सचिव राम सुभाग सिंह को हटाने का आम आदमी पार्टी ने अल्टीमेटम दे दिया है। पार्टी ने कहा है कि अगर मुख्य सचिव के खिलाफ कारवाई नहीं की गई तो वह राज्य सचिवालय का घेराव करेगी।
शिमला में प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी प्रवक्ता एसएस जोगटा ने कहा कि
राम सुभाग सिंह पर अतिरिक्त मुख्य सचिव (वन) रहते भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हैं। इसकी शिकायत पर सरकार ने अभी तक कोई करवाई नहीं की है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के आदेश पर केन्द्रीय कार्मिक मंत्रालय ने इस पर मुख्यमंत्री कार्यालय को एक पत्र भेजा है, जिसमें आरोप अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा गया है।


शिकायत में कहा गया है कि अनुसार जब राम सुभाग सिंह के पास वन विभाग का जिम्मा था तो कांगड़ा जिला के नगरोटा बगवा में एक इंटरनेशनल सेंटर बनाया गया था। वन विभाग के दो आईएफएस अधिकारी और एक अधिशासी अभियंता की रिपोर्ट के अनुसार भवन निर्माण में कई खामियां पाई गई। जिसमें घटिया सामग्री इस्तेमाल होने का भी अंदेशा है जिसमे लगभग 60 लाख की गड़बड़ी का भी आरोप है। इस भवन को जांच कमेटी ने असुरक्षित घोषित कर दिया था। शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत प्रधान सचिव विजिलेंस से की तो विजिलस ने कार्यवाही के लिए उक्त शिकायत राम सुभाग सिंह को ही भेजी। शिकायत के अनुसार अतिरिक्त मुख्य सचिव (वन) रहते हुए राम सुभाग सिंह ने इस मामले को दबाया और भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों को भी बचाया
जोगटा ने कहा कि प्रदेश सरकार ने अभी तक इस शिकायत पत्र कुछ नहीं किया। सरकार इस पर विचार करेगी।
उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा कोई कार्रवाई न करना दर्शाता है कि सरकार इस तरह से जनता के पैसों को भ्रष्टाचार के माध्यम से लूटने को पूरा समर्थन दे रही रही है। जिसका कि आम आदमी पार्टी भारी विरोध करती है तथा मांग की है कि ऐसे लोगों के बाहरी स्वतंत्र एजेंसी से जांच कर तुरंत कार्यवाही अमल में लाई जाए।
इस मौके पर सचिव शिमला जेडी चौहान, शिमला शहरी अध्यक्ष रिकी कुकरेजा , मीरा ठाकुर अध्यक्ष महिला विंग शिमला शहरी के अलावा आरपी पारचा सहित पार्टी के अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.